Essay on river in hindi

Essay on River in Hindi गंगा भारत की नदी है । यह हिमालय से निकलती है और बंगाल की घाटी में विसर्जित होती है । यह निरंतर प्रवाहमयी नदी है । यह पापियों का उद्‌धार करने वाली नदी है । भारतीय धर्मग्रंथों में इसे पवित्र नदी माना गया है और इसे माता का दर्जा दिया गया है । गंगा केवल नदी ही नहीं, एक संस्कृति है । गंगा नदी के तट पर अनेक पवित्र तीर्थों का निवास है ।गंगा को भागीरथी भी कहा जाता है । गंगा का यह नाम राजा भगीरथ के नाम पर पड़ा । कहा जाता है कि राजा भगीरथ के साठ हजार पुत्र थे । शापवश उनके सभी पुत्र भस्म हो गए थे । तब राजा ने कठोर तपस्या की । इसके फलस्वरूप गंगा शिवजी की जटा से निकलकर देवभूमि भारत पर अवतरित हुई ।इससे भगीरथ के साठ हजार पुत्रों का उद्‌धार हुआ । तब से लेकर गंगा अब तक न जाने कितने पापियों का उद्‌धार कर चुकी है । लोग यहाँ स्नान करने आते हैं । इसमें मृतकों के शव बहाए जाते हैं । इसके तट पर शवदाह के कार्यक्रम होते हैं । गंगा तट पर पूजा-पाठ, भजन-कीर्तन आदि के कार्यक्रम चलते ही रहते हैं ।गंगा हिमालय में स्थित गंगोत्री नामक स्थान से निकलती है । हिमालय की बर्फ पिघलकर इसमें आती रहती है । अत: इस नदी में पूरे वर्ष जल रहता है । इस सदानीरा नदी का जल करोड़ों लोगों की प्यास बुझाता है । करोड़ों पशु-पक्षी इसके जल पर निर्भर हैं । लाखों एकड़ जमीन इस जल से सिंचित होती है । गंगा नदी पर फरक्का आदि कई बाँध बनाकर बहुउद्‌देशीय परियोजना लागू की गई है ।अपने उद्‌गम स्थान से चलते हुए गंगा का जल बहुत पवित्र एवं स्वच्छ होता है । हरिद्वार तक इसका जल निर्मल बना रहता है । फिर धीरे- धीरे इसमें शहरों के गंदे नाले का जल और कूड़ा-करकट मिलता जाता है । इसका पवित्र जल मलिन हो जाता है । इसकी मलिनता मानवीय गतिविधियों की उपज है । लोग इसमें गंदा पानी छोड़ते हैं । इसमें सड़ी-गली पूजन सामग्रियाँ डाली जाती हैं । इसमें पशुओं को नहलाया जाता है और मल-मूत्र छोड़ा जाता है । इस तरह गंगा प्रदूषित होती जाती है । वह नदी जो हमारी पहचान है, हमारी प्राचीन सभ्यता की प्रतीक है, वह अपनी अस्मिता खो रही है ।गंगा जल में अनेक विशेषताएँ हैं । इसका जल कभी भी खराब नहीं होता है । बोतल में वर्षों तक रखने पर भी इसमें कीटाणु नहीं पनपते । हिन्दू लोग गंगा जल से पूजा-पाठ करते हैं । गंगा तट पर बिखरी चिकनी मिट्‌टी ‘ मृतिका ‘ से दंतमंजन बनाए जाते हैं । लोग इससे तिलक करते हैं ।गंगा तट पर अनेक तीर्थ हैं । बनारस, काशी, प्रयाग ( इलाहाबाद). Essay on Ganga River Pollution in Hindi. Save Water Essay in Hindi – जल संरक्षण पर निबंध. ध्यान दें– प्रिय दर्शकों Essay on River in Hindi आपको अच्छा लगा तो जरूर शेयर.

Online Dating Script Php Ganga starts from the cradle of the Himalayan mountain of the south. I've tried a few dating apps in the past and was let down. When I found MeetBang, I wasn't expecting much, Online Dating Script Php but within 15 minutes of signing up, a girl messaged me back.

Essay on River Ganga in Hindi In the initial phase of flow, there are two rivers Alaknanda and Bhagirathi originates in India. ADVERTISEMENTS गंगा नदी पर निबंध / Essay on River Ganga in Hindi! गंगा भारत की नदी है । यह हिमालय से निकलती है और बंगाल की घाटी में विसर्जित होती है । यह निरंतर प्रवाहमयी नदी है । यह.

Essay on River in Hindi - नदी पर निबंध - Hindi Vidya Bhagirathi originates from Gangotri glacier which is 25 km long from Gaumukh location. Essay on River in Hindi – नदी पर निबंध Last Updated December 4, 2019 By The Editor Leave a Comment Essay on River in Hindi अर्थात इस आर्टिकल में आप पढेंगे, नदी पर निबंध जिसका शीर्षक है, नदी की आत्मकथा.

Net Dating Script Bhagirathi and Alaknanda Dev Prayag is the confluence of the Ganges as it is recognized. Welcome! You are at the best destination to discover the best, excellent, charming, flawless and shocking cheap escorts in Dubai. Our affordable escort girls have attractive Net Dating Script body and they are full of energy which improves the chance of having a better experience. If a sexy babe is ready Net Dating Script

Published in

Add review

Your e-mail will not be published. Required fields are marked *